शुक्रवार, 14 मई 2010

ईवीएम मशीन को तो एक बच्चा भी हैक कर सकता है

ईवीएम मशीन को तो एक बच्चा भी हैक कर सकता है। इसे हैक करने के एक नही बल्कि कई तरीके हैं और बेहद आसान भी। ये वीडियो यही बता रहा है:

क्या आपको अपना चिट्ठा स्वयं के डोमेन नाम, होस्टिंग में स्थानांतरित कर देना चाहिए

क्या आप चिट्ठाकारी गंभीरतापूर्वक कर रहे हैं? या केवल शौकिया?

यदि आप शौकिया चिट्ठाकारी कर रहे हैं या उसे मन की भड़ास निकालने का माध्यम बनाकर उपयोग कर रहे हैं तो मुफ्त की वर्डप्रेस डॉट काम या ब्लॉगस्पाट जैसी सेवा आपके लिए ठीक रहेगी। किंतु यदि आप अपने लेखन के प्रति गंभीर हैं तो यह प्रविष्टि आपके लिए है।

एक नियम हमेशा याद रखिए, दुनिया में मुफ्त में कुछ नही मिलता है। आखिर गूगल ब्लागर नाम की सेवा मुफ्त में क्यों दे रहा है? गूगल इतना बेवकूफ तो नही है। असल में फंडा ये है कि आपको गूगल लिखने के लिए जगह उपलब्ध कराता है फिर आपके लिखे का प्रयोग करके एडसेंस के जरिए खूब कमाता है। ये बात और है कि आपको भी उस कमाई का एक हिस्सा मिलता है। किंतु वो हिस्सा कितना प्रतिशत है ये गूगल किसी को नही बताता है।

बेशक आप अपने ब्लॉगस्पाट पर स्थित चिट्ठे की सामग्री के स्वामी हैं पर डोमेन नाम तथा प्लेटफार्म का मालिक गूगल है। यदि ब्लॉगस्पाट पर आपका चिट्ठा एक दिन काफी मुनाफे वाला हो गया तो आप उसे बेच नही सकते हैं। इसके अलावा गूगल ब्लॉगस्पाट की सामग्री पर स्वयं नियंत्रण करता है। और जब चाहे आपका चिट्ठा मिटा सकता है। अब यदि आपने काफी मेहनत करके लेख लिखे हैं और भगवान न करे कि कोई ऐसी घटना आपके साथ हो जाए तो पूरी मेहनत पर पानी फिर जाएगा।
खुद के होस्ट किए गए चिट्ठे में सभी चीजें आपकी होती हैं। डोमेन नेम और प्लेटफार्म भी। गूगल आपके खुद के होस्ट किए गए चिट्ठे को मिटा भी नही सकता है।

ब्लॉगस्पाट आपको सबडोमेन देता है। ब्लॉगस्पाट पर ढेरों चिट्ठे हैं जिनमें से कई सारे आलतू फालतू सामग्री वाले भी हैं। कई स्पैम करने की उद्देश्य से शुरू किए गए हैं। अत: ऐसी स्थिति में आपका खुद का डोमेन नाम आपकी विश्वसनीयता पैदा करता है।

कई विज्ञापनदाता केवल तभी चिट्ठे पर विज्ञापन देते हैं जब वह स्वयं के डोमेन नाम पर हो। कोई मुफ्त होस्टिंग पर नही। स्वयं के डोमेन नाम और होस्टिंग होने से विज्ञापनों के लिए भी रास्ते खुल जाते हैं।


डोमेन नाम और वेब होस्टिंग महंगी नही पड़ती है। पांच-छ: सौ रुपए सालाना में डोमेन नाम और करीब दो हजार सालाना तक में वेब होस्टिंग आप खरीद सकते हैं।
कुछ लोग केवल डोमेन नाम खरीद लेते हैं परंतु होस्टिंग की बजाए ब्लागर के ही प्लेटफार्म को उपयोग करते हैं। मेरा विचार है कि आप एक बार वर्डप्रेस डॉट ओआरजी को डाउनलोड करके लोकल सर्वर में चलाकर देखें। वर्डप्रेस के आगे ब्लॉगर की कोई औकात नही है। जितनी सुविधाएं वर्डप्रेस आपको देता है ब्लॉगर नही देता है। और इसकी सुविधाओं को प्लगिन और टेम्प्लेटों के सहारे जितना चाहे विस्तारित किया जा सकता है।
और फिर वर्डप्रेस ही क्यों? आप यदि स्वयं की होस्टिंग रखते हैं तो उसमें कुछ भी चला सकते हैं, जूमला, ड्रुपल, बी२एवाल्यूशन, फोरम स्क्रिप्ट जैसे पीएचपीबीबी आदि। यानि कि विकल्प ही विकल्प खुले होते हैं। आप जितना चाहें आगे बढ़ सकते हैं।

हां एक बात जरूर है इतनी सुविधाओं के साथ थोड़ी मेहनत भी करनी होती है जैसे कि नियमित तरीके से डाटाबेस बैकअप लेना। फाइलों का बैकअप लेना आदि। पर ये कोई बहुत बड़ी भारी बात नही है। नियमित ध्यान देना अच्छा रहता है।
रही बात सुरक्षा की तो सामान्यत: वर्डप्रेस, जूमला आदि सुरक्षित हैं। पूरी दुनिया में इन्हे खूब प्रयोग किया जाता है। कभी कभार कुछ सुरक्षा खामियां जरूर निकल आती हैं लेकिन ये खामियां जल्द ही दूर भी कर दी जाती हैं।

तो क्या किया जाए?
वेब होस्टिंग तथा डोमेन नाम के लिए आप निम्न लिखित कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं:

http://dewlance.com/
http://way4host.com/

आप स्वयं भी वर्डप्रेस स्थापित करके और कुछ फ्री टेम्प्लेट स्थापित करके मिनटों में चिट्ठा शुरू कर सकते हैं। पर यदि आप अपने मन मुताबिक डिजाइन चाहते हैं या ब्लॉग की बजाए वेबसाइट जैसा रंगरुप चाहते हैं तो किसी वेब डिजाइनर की सहायता लेनी होगी। मैं स्वयं भी आपको वर्डप्रेस आधारित वेबसाइटें बनाकर दे सकता हूं। अभी अपनी स्वयं की साइट यहां (http://blogs.antarjaal.in/takneek) चला रहा हूं। मेरा संपर्क सूत्र है: ankurgupta555 (at) gmail (dot) com

खराब सीडी से मोबाइल रखने का खांचा बनाएं

यदि आपकी कोई सीडी या डीवीडी खराब हो गई हो तो उसे फेंकने की जरूरत नही है। आप चाहें तो उसका मोबाइल स्टैंड बना सकते हैं।
यह देखिये वीडियो:

लिनक्स आइसक्रीम भी बना सकता है। क्या आपका ओएस ऐसा कर सकता है?

लिनक्स केवल पर्सनल कम्प्यूटरों को ही नही चलाता बल्कि विभिन्न अन्य प्रकार की भी मशीनों में भी प्रयोग किया जाता है। "मूबेला" एक लिनक्स पर चलने वाली आइसक्रीम बनाने वाली मशीन है जिसे अभी फिलहाल न्यू इंग्लैंड में जांचा परखा जा रहा है। यह रेडहैट लिनक्स पर चल रही है तथा इसमें आप स्पर्श स्क्रीन के जरिए अपनी आइसक्रीम आर्डर किए जा सकते हैं।
इस वीडियो को देखें: