शुक्रवार, 31 जुलाई 2009

Nero 9 फ़्री में डाउनलोड करें

अन्य साफ़्टवेयर कंपनियों की तरह नीरो ने भी अपने लोकप्रिय प्रोडक्ट नीरो का फ़्री वर्जन उपलब्ध कराया है. इस फ़्री संस्करण का नाम है नीरो इसेंशियल.

यह नीरो के पैसे में आने वाले संस्करण जितनी सुविधाओं वाला तो नही है पर इससे आप डाटा डिस्क बना सकते हैं और सीडी डीवीडी कापी कर सकते हैं. वैसे भी रोजमर्रा के कामों में यही ज्यादातर करना पड़ता है. अधिक सुविधाओं के लिये आपको इसका पूरा संस्करण खरीदना पड़ेगा.

image

ध्यान रहे साफ़्टपीडिया इसे एडवायर की श्रेणी में रखता है क्योंकि ये आपके कंप्यूटर में ask का टूलबार और उसकी सर्च इंस्टाल कर देता है. अगर आप ये टूलबार नही चाहते हैं तो  इंस्टालेशन के वक्त इसके विकल्प को अक्षम कर देना ही उचित होगा.

एक बात और, अगर आप नीरो की साइट से इसे डाउनलोड करेंगे तो आपको अपना ईमेल भी नीरो की साइट में भरना पड़ेगा. इससे अच्छा है कि आप इसे साफ़्टपीडिया से डाउनलोड करें. यहां आपको रजिस्ट्रेशन नही करना पड़ेगा.

http://www.softpedia.com/get/CD-DVD-Tools/Data-CD-DVD-Burning/Nero-Free.shtml

गूगल क्रोम ३ बीटा लाया थीम सपोर्ट

गूगल ने हाल ही में अपने क्रोम ब्राउजर के तीसरे संस्करण का बीटा वर्जन लांच किया है. इस नये क्रोम में एक्सटेंशन सपोर्ट पहले से ही चालू है. गूगल क्रोम का यह संस्करण थीमिंग सुविधाओं के साथ आया है.थीमिंग के लिय आपको customize and control google chrome > options > personal stuff में जाना होगा.

image

ऊपर वाले चित्र में ध्यान दें इसमें थीम्स वाले सेक्शन में Get Themes नामक बटन बना हुआ है जो कि गूगल की थीम गैलरी में लेकर जाता. पर ये पेज अभी 404 त्रुटी दिखा रहा है. इसका मतलब है कि गूगल भी फ़ायर फ़ाक्स की तरह थीम्स वाली एक साइट चलायेगा.

वैसे दो थीम्स अभी भी उपलब्ध हैं. Camo तथा Snowflake

इसके अलावा और भी एक खास फ़ीचर है: इसका न्यू टैब वाला नया पेज.

image

अब देखते जाइये और क्या क्या नया जुड़ते जाता है इस क्रोम में. फ़िलहाल डाउनलोड के लिये यहां क्लिक करें:

http://www.google.com/chrome/eula.html?extra=devchannel

गुरुवार, 30 जुलाई 2009

nrg फ़ाइलों को iso में तब्दील करें

कई बार होता है कि हम डिस्क इमेज डाउनलोड करते हैं जो कि नीरो के एन आर जी फ़ार्मेट में होती हैं. आज हम इसे iso फ़ार्मेट में बदलना जानेंगे.

एक छोटी सी यूटिलिटी है nrg2iso . इसे आप यहां से डाउनलोड कर सकते हैं: http://www.weethet.nl/english/download.php

यह रार फ़ार्मेट में है अत: इसे पहले एक्स्ट्रैक्ट करेंगे. फ़िर रन करेंगे.

image

इंटरफ़ेस में कुछ बताने की जरूरत नही. अपनी एन आर जी फ़ाइल का पता और जहां आपको आई एस ओ सुरक्षित करना है उसका पता दीजिये और हो गया.

मंगलवार, 28 जुलाई 2009

Firefox 4 कैसा होगा : बिल्कुल क्रोम जैसा होगा

मोजिला ने कुछ चित्र प्रकाशित किये हैं, फ़ायर फ़ाक्स ४ के  इन चित्रों को देखकर केवल एक ही बात दिमाग में आती है: गूगल क्रोम. काफ़ी खूबसूरत हैं. वैसे फ़ायरफ़ाक्स बिल्कुल इनके जैसा ही दिखेगा जरूरी नही है(ये अभी प्लानिंग है). पर मोजिला क्या सोच रहा है ये बात अच्छे से समझ में आ रही है.

image

image

image

ZOHO की सफ़लता का राज ओपेन सोर्स + क्लाउड

सीनेट न्यूज में जोहो आफ़िस सुईट की सफ़लता का राज प्रकाशित हुआ है. इसके मुताबिक जोहो आफ़िस सुईट ओपेन सोर्स CentOS, MySQL और Apache Tomcat जैसे ओपेन सोर्स साफ़्टवेयरों के ऊपर चलता है. वेगेस्ना ने यह भी बताया कि वो आपरेटिंग सिस्टम का तो सोर्स कोड नही बदलते हैं पर अन्य चीजों(जैसे माई एसक्यूएल) का कोड बदलकर उपयोग करते हैं.

ये पूछे जाने पर कि क्या जोहो को प्रापराइटरी साफ़्टवेयरों पर बनाया जा सकता था, जवाब सीधा था कि कल्पना कीजिये क्या गूगल अपने छ: लाख सर्वरों को विंडोज से चलाये. तकनीकी रूप से हो सकता है ये संभव हो पर ये शायद ही तब अपनी सेवाओं को फ़्री में दे पाये. प्रापराइटरी साफ़्टवेयरों के उपयोग से साफ़्टवेयरों को सेवाओं के तौर पर मुफ़्त में दे पाना संभव ही नही होगा.

पूरी खबर यहां आप अंग्रेजी में पढ़ सकते हैं:

http://news.cnet.com/8301-13505_3-10296094-16.html?part=rss&subj=news&tag=2547-1_3-0-20 

image

रविवार, 26 जुलाई 2009

लाइनेक्स मे वीडियो फाइलों का फॉर्मेट परिवर्तित करें



वीडियो फाइलों के फार्मेट्स को बदलना आजकल रोजमर्रा के कामो मे से एक है। जैसे की यूं ट्यूब से कोई वीडियो डाउनलोड करके उसे मोबाइल मे डालना या ऐ वी आई मे बदलना। इसी तरह वीडियो फाइलों को इन्टरनेट मे प्रयोग करने के लिए उन्हें एफ एल वी मे बदलना आदि।
लाइनेक्स के लिए इन कामो को करने वाला एक बेहतरीन साफ़्टवेयर उपलब्ध है। इसका नाम है winff । ये साफ़्टवेयर जितनी प्रकार की फाइलों को समर्थन देता है उतने के नाम लिख पाना सम्भव नही है। आप ख़ुद ही डाउनलोड करके देखे लीजिये।
इंस्टाल करने के लिए ऍप्लिकेशन मीनू से एड रिमूव एप्लीकेशन मे जाएँ और "Converter" लिखकर खोजें। आपको विनएफ एफ जरूर मिल जाएगा।



विन एफ एफ मुफ्त है और ये लिनक्स के साथ साथ विन्डोज़ के लिए भी उपलब्ध है।
वेबसाइट : http://winff.org/

शनिवार, 25 जुलाई 2009

वेब डेवलपमेंट शुरू करते समय

jQuery परिचय : हिंदी में प्रस्तुतीकरण

एप्टाना स्टूडियो लिनक्स विन्डोज़ और मैक के लिए एक बढ़िया आई डी ई



एप्टाना
स्टूडियो वेब डेवलपमेंट के लिए एक प्रकार से आल इन वन आई डी ई साबित होता है। एच टी एम एल, सी एस एस और जावा स्क्रिप्ट के अलावा इसमे आप पी एच पी, रूबी आन रैल्स, पाइथन आदि की प्रोग्रामिंग भी कर सकते हैं. ध्यान दें की ये तीनो भी वेब डेवलपमेंट की भाषाएँ हैं। यही नही यदि आप जावास्क्रिप्ट लाइब्रेरियों जैसे की जे क्वेरी, डोजो, ई एक्स टी जे एस आदि का प्रयोग करते हैं तो एप्टाना स्टूडियो आपको इन लाइब्रेरियों के लिए भी कोड एसिस्ट प्रदान करता है। सबसे महत्वपूर्ण बात ये की ये बिल्कुल मुफ्त है। तभी तो एप्टाना स्टूडियो को ड्रीमवीवर किलर भी कहा जाता है।
एप्टाना स्टूडियो के द्वारा आप php, jaxer(server side ajax), ruby on rails, python की प्रोग्रममिंग कर सकते हैं। इसके अलावा एप्टाना स्टूडियो निम्न लिखित जावास्क्रिप्ट लाइब्रेरियों का समर्थन करता है।
jQuery, Dojo, Mootools, YUI, Scriptaculus, Prototype, ExtJS, OpenRico, Adobe Spry, ASP.net Ajax Controls, Mochkit, Aflax
और हाँ एप्टाना स्टूडियो की कहानी यहाँ खत्म नही होती है। क्योकि इसके द्वारा आप डेस्कटॉप ऍप्लिकेशन भी बना सकते हैं। एप्टाना स्टूडियो Adobe AIR Development को भी सपोर्ट करता है।
एप्टाना स्टूडियो विन्डोज़ लिनक्स और मैक तीनो के लिए मुफ्त उप्लब्ध है। इसे आप यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं:
http://www.aptana.com/studio/download

विन्डोज़ संस्करण के इंस्टालेशन के बारे मे ज्यादा कुछ जरूरत नही है। बस सेटअप को चालू कीजिये और इंस्टाल कीजिये।
लिनुक्स संस्करण बिना किसी इंस्टालर के आता है यानी की एक जिप फाइल के तों पर। इसे किसी डायरेक्टरी मे एक्सट्रेक्ट कीजिये उदाहरण के लिए होम डायरेक्टरी मे। फ़िर AptanaStudio नामक फाइल को डबल क्लिक करके रन कीजिये।
अगर ये फाइल रन ना हो रही हो तो इसमे राइट क्लिक करके प्रापर्टीज मे जाइए और फ़िर परमीशन टैब खोलिए। इसमे आपको एक विकल्प दिखाई देगा : Allow Executing File as Program. इस विकल्प को सक्षम कर दीजिये। अब दोबारा फाइल को डबल क्लिक करके रन करिए। एप्ताना स्टूडियो चालू हो जाएगा।



यहाँ एक बात मैं आपको बता दूँ की एप्टाना स्टूडियो सामान्य अवस्था मे केवल html, css, javascript, xml के सपोर्ट के साथ आता है। अन्य विशेषताएं जैसे पी एच पी सपोर्ट, रूबी आन रैल्स, जावास्क्रिप्ट लाइब्रेरियों का सपोर्ट आदि अलग से डालना पड़ता है।

जब आप पहली बार एप्टाना स्टूडियो चलते हैं तो आपको इन प्लग इन को डालने के लिए पूछा जाता है। अगर आप दोबारा कोई अन्य फीचर इंस्टाल करना चाहते हैं तो आपको help > install aptana features मे जाना पड़ेगा।



एप्टाना स्टूडियो जितनी भाषाओँ और जावास्क्रिप्ट लाइब्रेरियों को सपोर्ट करता है ड्रीमवीवर नही करता है। वहीं ड्रीमवीवर मे आपको wysiwyg इंटरफेस मिलेगा जो की एप्टाना स्टूडियो मे नही है (पर ये आपके कोड का प्रीव्यू दिखा सकता है )। वैसे भी बड़े स्तर के प्रोजेक्ट्स मे और वो भी जब प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज से बन रहे हों तो wysiwyg वाला सिस्टम किसी काम का नही रहता है। अगर आप ड्रीमवीवर को ध्यान से परखेंगे तो पता चलेगा की ये स्टैटिक साइटों को बनने के लिए विशेष तौर पर बनाया गया है। डायनेमिक के लिए भी कुछ सुविधाएं हैं पर वो काफी कम हैं।

अगर आप वेब डेवलपमेंट करने जा रहे हो तो इसे जरूर आजमाइयेगा ।

मंगलवार, 21 जुलाई 2009

कैंसर रोग संबंधी फ़्री ई पुस्तकें

कैंसर से संबंधित फ़्री ई पुस्तकें डाउनलोड करें. पुस्तकों का प्रिंट संस्करण तथा अन्य सीडीज़ आप टाटा मेमोरियल कैंसर हास्पिटल, गोल्डन जुबली बिल्डिंग, परेल, मुम्बई से प्राप्त कर सकते हैं.