रविवार, 30 सितंबर 2007

हमारे लाला जी .... हँसना मत

हमारे घर के पास एक लाला जी रहते हैं। ज्यादा तो वो फिल्मे देखते नही हैं पर एक दिन चले गए "नि: शब्द "
घर आये तो मैंने पूछा क्यों लाला जी अमित जी का कम कैसा लगा?
लाला जी : कौन अमित जी?
मैं: अरे आप अमित जी को नही जानते। इतने बडे स्टार हैं। आभी आप उन्ही की ही तो फिल्म देखकर आ रहे हैं। अमित जी यानी कि अमिताभ बच्चन ।
लाला जी: अरे तो ऐसे बोल ना। तू तो ऐसे बोल रहा है जैसे कि अमिताभ बच्चन तेरी बुआ का लड़का हो।
मैं: खैर बताइए कैसा लगा उनका काम?
लाला जी: अरे भाई , उनका काम बहुत बढ़िया है। अपने बच्चों की शादी कर दीं है अब दूसरों की बच्चियों के पीछे पडे हुए हैं।


वहीं पास मे शमशेर सिंह जी भी रहते हैं, पुलिस वाले हैं बहुत कड़क।
एक दिन उनकी मुलाक़ात रिचर्ड गेर से हो गई।
शमशेर सिंह : क्यों ये बता कि तुने शिल्पा की चुम्मी क्यों ली?
रिचर्ड : what you are saying? I can't understand.
शमशेर सिंह: हमारी भाषा नही आती, हमारी चुम्मी लेनी आती है।
रिचर्ड: वो हमारा नमस्ते करने का तरीका है।
शमशेर सिंह: अच्छा ये बता कि ये दोनो छोटे छोटे कौन हैं?
रिचर्ड: ये मेरे बच्चे हैं।
शमशेर सिंह: और ये जो लेडी खड़ी है ...
रिचर्ड: वो मेरी वाइफ है।
शमशेर: अरे जरा हमारी भी तो उनसे नमस्ते करवाइये.


क्या आपने जिद्दी मुर्गे की कहानी सुनी है?
नही।
तो मैं सुनाता हूँ
एक मुर्गा बुत जिद्दी था। उसका मलिक उसे पिंजरे मे डालता था पर वो इतना जिद्दी था कि वो पीछे से निकल आता।
उसे फिर से पिंजरे मे बंद किया पर वो इतना जिद्दी था कि फिर से पीछे से निकल आया।
अब की बार मालिक को ग़ुस्सा आ गया वो मुर्गे को काट के खा गया पर मुर्गा इतना जिद्दी था कि फिर से "पीछे" से निकल आया



स्रोत: द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेन्ज

शनिवार, 29 सितंबर 2007

आफिस २००३ सर्विस पैक ३ हाजिर है


आज मुझे माइक्रोसाफ्ट का डाउनलोड नोटिफिकेशन वाला ई मेल मिला। पता चला आफिस २००३ सर्विस पैक ३ डाउनलोड के लिए हाजिर है।


तो आइये आपको बताता हूँ क्या नया है इसमे:-


जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हर प्रोडक्ट का अपडेट कुछ सिक्योरिटी फिक्स लेकर आता है ठीक उसी तरह से ये भी सिक्योरिटी फिक्स लेकर आया है। दुनिया भर मे एम एस आफ़िस मे जितने भी क्रैश होते हैं उनकी आनलाइन रिपोर्ट के आधार पर एस पी ३ को सुधारा गया है. पर सिक्योरिटी के नाम पर कुछ फ़ीचर्स को हटाया भी गया है...


इस अपडेट को लगाने के बाद आप वर्ड का फ़ास्ट सेव का आप्शन खो देंगे। माइक्रोसाफ़्ट का कहना है कि फ़ास्ट सेव का फ़ीचर केवल आपके डाक्यूमेंट मे होने वाले बदलावों को सेव करता है इसमे वो जानकारी भी सेव हो जाती है जो कि आप दूसरों के साथ शेयर नही करना चाहते हैं ये जानकारी मेटाडाटा के रूप मे जानी जाती है।


सर्विस पैक ३ को लगाने के बाद ये आप कुछ एक्सेल २००३, पावर प्वाइंट २००३, वर्ड २००३ और कोरल ड्रा के फ़ार्मेट को खोल नही पायेंगे क्योंकि ये फ़ार्मेट कम सुरक्षित हैं।

इस सर्विस पैक का सबसे बड़ा फ़ीचर है MOICE (Microsoft Office Isolated Conversion Environment.) ये खुलने वाली हर आफ़िस फ़ाइल के चारों तरफ़ एक दीवार बना देता है इससे वह फ़ाइल उस दीवार के बाहर कुछ भी नही कर सकती है.


एस पी ३ डाउनलोड ११७ एम बी का है इसे यहां से डाउनलोड किया जा सकता है:-

गुरुवार, 27 सितंबर 2007

कैसे कैसे गूगल एड ?

मैं वेबसाईट डिजाइन कर रहा था एकाएक मेरी नजर गूगल एड पर पडी। एड था : अंकुर पटेल, भास्कर पटेल, हरीश पटेल, राजू पटेल। नीचे स्क्रीन शॉट दिया गया है। बड़ा करके देखने के लिए उसमे क्लिक करें।


अब मुझे तो पता नही कि इसका क्या मतलब है ? ऐसे विज्ञापनो पर तो ज़रूर क्लिक पड़ते होंगे क्यूंकि हर कोई जानना चाहेगा कि ये है किसका विज्ञापन।

मंगलवार, 25 सितंबर 2007

उबंटू स्टूडियो पर एक नजर


जैसा कि मैंने आपको पहले बताया था कि उबंटू को बिना हार्ड डिस्क मे पार्टीशन बनाए भी इन्स्टाल किया जा सकता है। उसी तरह मैंने उबंटू स्टूडियो को भी इंस्टाल किया।

उबंटू स्टूडियो ऐसा लाइनेक्स डिस्ट्रो है जिसे ग्राफिक्स और आडियो वीडियो एडिटिंग के लिए बनाया गया है। उबंटू की ही तरह ये भी जीनोम डेस्कटाप का प्रयोग करता है।

इसमे 3d के लिए ब्लेंडर, इमेज एडिटिंग के लिए गिम्प, 2D एनीमेशन के लिए सिनफिग स्टूडियो, आडियो एडिटिंग के लिए आडियो सिटी, वेक्टर ग्राफिक्स के लिये इन्कस्केप आदि है। सारे साफ़्ट्वेयरों को तो नही बता सकता ये लिस्ट बहुत लंबी है.


ये डिस्ट्रो सी डी मे नही आता है। ये डी वी डी मे उपलब्ध है जो कि करीब ८०० एम बी की है। सबसे बडी़ गड़बड़ ये है कि इसमे ओपेन आफ़िस या कोई अन्य आफ़िस साफ़्ट्वेयर इसमे नही है। एक बात और सामने आती है कि जब डी वी डी मे ही इसे देना था तो ऐसे कुछ और साफ़्ट्वेयर जोड़े जा सकते थे।


इसकी डिफ़ाल्ट थीम काले रंग की है। जिसमे (फ़िलहाल मुझे) अक्षरों को पढ़ना असुविधाजनक होता है।

अगर आपको उबंटू ह्यूमन की नारंगी वाली थीम पसंद है तो फ़िलहाल इसमे वो नही है।


साफ़्ट्वेयरों और थीम्स को आप इंटरनेट से ला सकते हैं पर अगर ये सब साथ मे मिलते तो ज्यादा अच्छा होता।

सोमवार, 24 सितंबर 2007

एक्सप्लोरर 2 लाईट : फ़ाइल प्रबंधन का एक अच्छा साफ़्टवेयर

विन्डोज़ एक्स पी मे फाइलों का प्रबंधन कराने के लिए विन्डोज़ एक्सप्लोरर होता है. पर जब हमे बहुत सारी फाइलों का प्रबंधन करना होता है तो इसमे असुविधा होने लगती है। एक्सप्लोरर लाईट एक फ्री साफ़्टवेयर है जो कि आपको फाइलों का प्रबंधन करने की अच्छी सुविधा देता है। इसमे ३ पैन होते हैं बाएँ तरफ का पैन आपको किसी फोल्डर अथवा ड्राइव को चुनने की सुविधा देता है तो वही बांकी के दोनो पैन उस फोल्डर अथवा ड्राइव की अंदर की चीजों को दिखाते हैं। इसमे आप विन्डोज़ एक्सप्लोरर की तरह आइकांस का वियू भी चुन सकते हैं।
यदि
आप किसी म्यूजिक फ़ाइल को चुनते हैं तो आप उसे वहीं पर सीधे प्ले कर सकते हैं। यानी कि आप इसे एक मीडिया प्लेयर की तरह भी उपयोग कर सकते हैं । इसमे विजुअल फ़िल्टर की भी एक सुविधा है जिसके द्वारा आप वाइल्ड कार्ड डाल के आप फाइलों को चुन सकते हैं।
और तो और आप किसी बड़ी फ़ाइल को तोड़ सकते हैं तो वहीँ उन्हें जोड़ सकते हैं।
विन्डोज़ मे काम करते वक़्त आप किसी फोल्डर मे राइट क्लिक करके ओपन एक्स २ मे क्लिक करके सीधे एक्सप्लोरर लाईट मे पहुंच सकते हैं।

इतना सब कुछ फ्री साफ़्टवेयर मे हैं तो क्यों ना इसे डाउनलोड किया जाये। यहाँ से डाउनलोड करें

मंगलवार, 11 सितंबर 2007

भगवान् के नाम पर जान दे दे बाबा

ज़रा इसे पढिए आज के दैनिक भास्कर के साथ ये आया है।


अरे भैया ये चक्का जाम क्यों ? अगर किसी को हार्ट अटैक आया होगा तो वो तो अस्पताल नही पहुंच पायेगा और मर जाएगा। और हार्ट अटैक टाइम बता के नही आता है। ये तो वही बात हुई कि भगवान के नाम पर जान दे दे बाबा।
मेरा विचार ..
जो विरोध करना है करो पर ऐसा काम मत करो जिससे नुकसान उठाना पडे


आप अपने विचार लिखिए ...

सोमवार, 10 सितंबर 2007

उबंटू लाइनेक्स मे RAR फाइलों को कैसे खोलें ?


उबंटू लाइनेक्स मे कम्प्रेस्ड फाइलों को खोलने के लिए Archive Manager नाम की यूटीलिटी होती है। पर ये रार फाइलों को खोल नही पाती है। रार फाइलों को खोलने के लिए आपको अन रार को स्थापित करना पडेगा. इसके लिए Sinaptic Package Manager को खोलें.
एक बार रीलोड मे क्लिक कर दे. इससे पूरा डाटा अद्यतन हो जायेगा. अब सर्च बटन मे क्लिक करके unrar को खोजें. आपको अनरार और अन रार फ्री दिखाई देंगे. दोनो को ही चुने और Apply मे क्लिक कर दे. एक बार इंस्टालेशन पूरा हो जाने के बाद आप Archive Manager से रार फाइलों का उपयोग कर पायेंगे.

मंगलवार, 4 सितंबर 2007

उबंटू लाइनेक्स मे फोटोशाप इंस्टाल करें

उबंतू मे गिम्प साफ़्टवेयर तो होता है पर इसका इंटरफेस ऐसा है कि फोटोशाप मे काम कराने वालों को पसीना आ जाये। ठीक है अगर आप फोटोशाप को उबंटू मे इंस्टाल करना चाहते हैं तो ये भी संभव है। फोटोशाप आ सातवां संस्करण उबंटू मे आसानी से इंस्टाल हो जाता है और चलता भी अच्छे से है।

फोटोशाप इंस्टाल करने के लिए आपको सबसे पहले वाइन इंस्टाल करना पडेगा। अगर आपका सवाल ये है कि वाइन क्या है तो मैं बता दूं कि ये एक ऐसा साफ्टवेयर है जो कि लाइनेक्स मे चलता है और उसमे एक नकली C:\ Drive और विन्डोज़ की रजिस्ट्री बना देता है। वाइन साफ़्टवेयर के द्वारा हम कुछ विन्डोज़ के प्रोग्रामों को लाइनेक्स मे चला सकते हैं। इसे इंस्टाल करने के लिए सिनैप्टिक पॅकेज मैनेजर का प्रयोग करें।
चलिए
आगे बढ़ते हैं।
सबसे पहले फोटोशाप ७ की सीडी को अपने कम्प्यूटर मे डालिये।
अब वाइन का फ़ाइल ब्राउजर शुरू कीजिये। इसके लिए आपको ऍप्लिकेशन> एसेसरीज >वाइन फ़ाइल मे जाना होगा।




अपनी सेट अप फ़ाइल को रन कीजिये। अब इन्सटालेशन शुरू हो जायेगा अब जैसा आप विन्डोज़ मे इसे इंस्टाल करते हैं उसी तरह उबंटू मे भी कीजिये।



इंस्टालेशन पूरा होने के बाद फोटोशाप एप्लीकेशन > वाइन > प्रोग्राम्स > फोटोशाप मे दिखाई देगा

अब उबंटू मे फोटोशाप का आनंद लें


अब उबंटू इंस्टाल बिना किसी दिक्कत के

उबंटू सर्वाधिक लोकप्रिय लाइनेक्स वितरण है। विन्डोज़ के साथ इंस्टाल करना सबसे रिस्की और दिक्कत भरा होता है। कई बार हम लाइनेक्स तो उपयोग करना चाहते हैं पर हार्ड डिस्क मे अलग पार्टीशन नही बनाना चाहते हैं।
मैंने अपनी पिछली पोस्ट मे वर्चुअल मशीनों के बारे मे बताया था। वर्चुअल मशीनों मे सबसे बड़ी कमी ये है कि आपको रैम से कुछ हिस्सा निकलना पड़ता है। और एम एस वर्चुअल पी सी मे अगर आपका गेस्ट लाइनेक्स है तो गेस्ट और होस्ट आपरेटिंग सिस्टम के बीच फाइलों का साझा भी नही हो पाता है।
अगर हम लाइव सी डी चलाते हैं तो सेटिंग्स ख़त्म हो जाती हैं।
आपके लिए आ गया है "वूबी" । जीं हाँ! वूबी, ये एक ऐसा साफ़्टवेयर है जिसके द्वारा आप अपनी हार्ड डिस्क पर उबंटू, कुबंटू, एजुबंटू, ज़ुबंटू और उबंटू स्टूडियो को इंस्टाल कर सकते हैं। ये एक वर्चुअल हार्ड डिस्क बनाएगा और उसमे पूरा का पूरा आपरेटिंग सिस्टम इंस्टाल कर देगा। बूट करते समय आपको दो विकल्प दिए जायेंगे कि आप लाइनेक्स को चलना चाहते हैं या विन्डोज़ को।
अगर आप लाइनेक्स हटाना चाहते हैं तो विन्डोज़ के एड रिमूव प्रोग्राम्स मे जाकर वूबी को अन इन्स्टाल कर दें आपका लाइनेक्स हट जाएगा। कोई झंझट नही।

वूबी जरिये लाइनेक्स इन्स्टाल कैसे करें ?
सबसे पहले वूबी डाउनलोड करें। इसके लिए यहाँ पर क्लिक करें।
अगर आपके पास उबंटू की इमेज फाइल है तो उसे इंस्टालर वाली डायरेक्टरी मे रख दें। अगर नही है तो वुबी खुद ही डाउनलोड कर देगा।
ध्यान रहे लाइव सी डी की इमेज नही चलेगी। आपको अल्टरनेट सी डी वाली इमेज की जरूरत होगी जो लाइव सी डी नही होती है।

अब वूबी की फाइल को रन कराइये।

इसमे आपसे पूछा जाता है कि आप किस ड्राइव मे वूबी को इन्स्टाल करना चाहते हैं और आप वर्चुअल हार्ड डिस्क का साइज कितना रखना चाहते हैं। वैसे मुझे लगता है कि १० जीबी पर्याप्त होगा। अगर आपको कम या ज्यादा की जरूरत है तो आप एडजस्ट कर सकते हैं ।

फिर आती है बारी कि आप कौन सा लाइनेक्स इंस्टाल करना चाहते हैं। इसमे उबंटू चुन लें।

भाषा चुने और उपयोगकर्ता का नाम, पासवर्ड डाल दें।
अब इंस्टाल पर क्लिक करें। कुछ देर प्रोसेसिंग कराने के बाद ये आपसे दोबारा कंप्यूटर को शुरू करने को कहेगा। दुबारा कंप्यूटर शुरू करें।

अब आप दो आपरेटिंग सिस्टमों को देख पा रहे होंगे। उबंटू को चुन लें। अब इन्सटालेशनकी प्रक्रिया शुरू हो जायेगी। आपको कुछ भी नही करना है। बस इन्सटालेशन पूरे होने का इन्तजार करना है। मेरे कंप्यूटर मे इन्सटालेशन करीब ३० मिनट मे पूरा हो गया।

अब एक बार फिर कंप्यूटर शुरू कीजिये और उबंटू चुनिएस्वागत है उबंटू मे



उबंटू कैसे हटाएँ ?
विन्डोज़ के एड रिमूव प्रोग्राम्स को शुरू करें और वुबी को हटा दें। बस हो गया।

ध्यान रहे कि वुबी को उपयोग करने से पहले अपनी पूरी हार्ड डिस्क का बैक अप ले लें

लड़कियों की साइकोलोजी

आज मुझे एक मैसेज मिला । बहुत ही मजेदार था । आप भी पढिए

लड़कियों की साइकोलोजी


Fraud with Innocent Boys
Fun with Handsome Boys
Friendship with Charming Boys
Contact with Intelligent Boys
Flirt with Freaky Boys
Love with Faithful Boys
& in the end
Marriage with the Rich Boy

कहानी का संदेश
चन्द्रमुखी हो या पारो , सब एक जैसी हैं यारों

अंकुरब्लोग्स यानी सम्पूर्ण मनोरंजन

अंकुर ब्लोग्स को अपडेट किया जा रहा है। मैं अपने इस हिंदी ब्लोग के द्वारा आपसे ये जानना चाहता हूँ कि आप अन्कुरब्लोग्स में मनोरंजन हेतु और क्या क्या चाहेंगे। ब्लोग के लगभग सभी हिस्सों को नए सिरे से लगाया जा चुका और जो कुछ भी कार्य बचा हुआ है वह भी जल्द ही पूरा हो जाएगा।
अंकुरब्लोग्स में नया क्या कुछ...
>> ये ब्लोग साईट काफी अधिक पोस्टों से भारी हो गई थी अतः हमने विचार किया कि इसे वेब साईट वाला रुप दिया जाये। अतः हमने पूरी पोस्टों को नए सिरे से व्यवस्थित किया । और ३ कालम वाली टेम्प्लेट का प्रयोग किया ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लिंक्स और जानकारी हम अपने ब्लोग में दे सकें।
>> शीर्षक के नीचे हमने ब्लोग के अन्दर के सभी लिंक्स दे दिए हैं। जैसे Celeb Wallpapers, Tech, Videos, Photo Gallary आदि।
>> सारे वालपेपर , जोक , वीडियो आदि के लिए एक इंडेक्स पेज बनाया गया है ताकि मनचाही चीजों को खोजने में किसी तरह की दिक्कतों का सामना ना करना पडे।
>> पुरानी पोस्ट जो किसी वर्ग में नही आती और बंद हो चुके वीडियोस आदि को हटाया गया है।

आप अंकुरब्लोग्स में विजिट करें और मुझे अपने सुझाव ई मेल करें अथवा ankurthoughs में ही comments दें। कृपया अंकुरब्लोग्स में comments ना दें क्योंकी हम उसे वेबसाइट जैसा रुप प्रदान करना चाहते हैं।
मेरा ई मेल पता है ankur_gupta555@yahoo.com
अंकुरब्लोग्स यानी कि सम्पूर्ण मनोरंजन ।

मैक ओ एस १० का एड

आज मैं आपको मैक ओ एस एक्स का एड दिखा रहा हूँ । ये एड मैंने अडोब प्रीमियर में बनाया है। वीडियो क्लिप मैंने ऐपल की साईट से ली है। इस एड को देखने के बाद आप कह उठेंगे कि वाव !!! क्या कंप्यूटर है। विन्डोज़ विस्टा को तो भूल ही जायेंगे। इसीलिये ऐपल ने कहा कि WOW तो ५ साल पहले ही शुरू हो चुका था। अगर आप में से कोई वीडियो एडिटिंग का जानकार है तो कृपया मुझे ई मेल के द्वारा कुछ सुझाव दें ।