मंगलवार, 25 सितंबर 2007

उबंटू स्टूडियो पर एक नजर


जैसा कि मैंने आपको पहले बताया था कि उबंटू को बिना हार्ड डिस्क मे पार्टीशन बनाए भी इन्स्टाल किया जा सकता है। उसी तरह मैंने उबंटू स्टूडियो को भी इंस्टाल किया।

उबंटू स्टूडियो ऐसा लाइनेक्स डिस्ट्रो है जिसे ग्राफिक्स और आडियो वीडियो एडिटिंग के लिए बनाया गया है। उबंटू की ही तरह ये भी जीनोम डेस्कटाप का प्रयोग करता है।

इसमे 3d के लिए ब्लेंडर, इमेज एडिटिंग के लिए गिम्प, 2D एनीमेशन के लिए सिनफिग स्टूडियो, आडियो एडिटिंग के लिए आडियो सिटी, वेक्टर ग्राफिक्स के लिये इन्कस्केप आदि है। सारे साफ़्ट्वेयरों को तो नही बता सकता ये लिस्ट बहुत लंबी है.


ये डिस्ट्रो सी डी मे नही आता है। ये डी वी डी मे उपलब्ध है जो कि करीब ८०० एम बी की है। सबसे बडी़ गड़बड़ ये है कि इसमे ओपेन आफ़िस या कोई अन्य आफ़िस साफ़्ट्वेयर इसमे नही है। एक बात और सामने आती है कि जब डी वी डी मे ही इसे देना था तो ऐसे कुछ और साफ़्ट्वेयर जोड़े जा सकते थे।


इसकी डिफ़ाल्ट थीम काले रंग की है। जिसमे (फ़िलहाल मुझे) अक्षरों को पढ़ना असुविधाजनक होता है।

अगर आपको उबंटू ह्यूमन की नारंगी वाली थीम पसंद है तो फ़िलहाल इसमे वो नही है।


साफ़्ट्वेयरों और थीम्स को आप इंटरनेट से ला सकते हैं पर अगर ये सब साथ मे मिलते तो ज्यादा अच्छा होता।

2 टिप्‍पणियां:

  1. ubuntu के बारे मे ज्यादा तो हम नही जानते है क्यूंकि हम जरा कम टेक्नीकल है। पर हाँ हमे इसका नाम जरुर अच्छा लगता है। हमारे कंप्यूटर पर इसका स्टीकर भी लगा है। जानकारी देने का शुक्रिया।

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपका ब्लोग बहुत अच्छा लगा.
    ऎसेही लिखेते रहिये.
    क्यों न आप अपना ब्लोग ब्लोगअड्डा में शामिल कर के अपने विचार ऒंर लोगों तक पहुंचाते.
    जो हमे अच्छा लगे.
    वो सबको पता चले.
    ऎसा छोटासा प्रयास है.
    हमारे इस प्रयास में.
    आप भी शामिल हो जाइयॆ.
    एक बार ब्लोग अड्डा में आके देखिये.

    उत्तर देंहटाएं