सोमवार, 30 जुलाई 2007

टायटेनिक के डूबने की खबर

इन्टरनेट पर घूमते घूमते ये अखबार मिला । है तो ये अन्य आम अखबारों की तरह पर इसकी हेड लाइन तो पढ़िये जरा...


5 टिप्‍पणियां:

  1. यह तो कहीं पढ़े थे एकाध दिन पहले अंकुर किसी के ब्लॉग पर. शायद खबरची खबर किये थे... :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. अंकुर आप के ब्लाग के साथ एक समस्या है कि फ़ायर्फ़ाक्स पर हिन्दी साफ़ दिखाई नही देती , वैसे मै IE TAB प्रयोग कर के इस दिक्कत को दूर कर लेता हूँ लेकिन फ़िर भी यह काम मुझे बहुत ही झँझट वाला लगता है , कुच करिये ताकि फ़ायर्फ़ाक्स पर हिन्दी साफ़ दिखे . मुझे लगता है कि यह थीम के साथ पंगा है , शायद ?

    उत्तर देंहटाएं
  3. किसी और की खबर अगर टीपनी हो तो पूरी टीपो टुकडों मे ं क्या रक्खा है? ये खबर कुछ दिन पहले भी आ चुकी है प्यारे! कुछ नयां करो ।
    खबर देखने के लिये देखो
    http://baatkaramaat.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  4. DR PRABHAT TANDON ने कहा...
    अंकुर आप के ब्लाग के साथ एक समस्या है कि फ़ायर्फ़ाक्स पर हिन्दी साफ़ दिखाई नही देती , वैसे मै IE TAB प्रयोग कर के इस दिक्कत को दूर कर लेता हूँ लेकिन फ़िर भी यह काम मुझे बहुत ही झँझट वाला लगता है , कुच करिये ताकि फ़ायर्फ़ाक्स पर हिन्दी साफ़ दिखे . मुझे लगता है कि यह थीम के साथ पंगा है , शायद ?


    फ़ायर फ़ाक्स मे तो मुझे भी हिन्दी साफ़ नही दिखाई देती है. मुझे नही लगता कि ये थीम का लफ़ड़ा है. कुछ अन्य साईटॆं भी फ़ायर फ़ाक्स मे ठीक नही दिखती हैं. इंटरनेट ए़क्सप्लोरर मे सारी वेब साइटें ठीक दिखती हैं.

    समीर जी और कमलेश जी,
    आप लोगों का कहना ठीक है पर ये फोटो मुझे एक फ़ोरम से मिली थी और हां ये फ़ोटो मेरे कम्प्यूटर मे महीनो से पड़ी थी. हार्ड डिस्क की सफ़ाई करते समय मिली.

    नये तो हमारे वालपेपर हैं डाउनलोड कीजिये

    उत्तर देंहटाएं
  5. अमाँ यार, मरवा दोगे क्या घर में नये वाले वाल पेपर डाऊनलोड़ करवा कर. हम तो आपकी वाल पर ही वाल पेपर देखकर खुश हो लिये, समझो. और लाओ. :)

    उत्तर देंहटाएं